ROM का फुल फॉर्म क्या है- ROM Full form in Hindi & English

ROM का फुल फॉर्म क्या है- ROM Full form in Hindi & English:- ROM का फुल फॉर्म Read only memory होता है जिसका मतलब होता है ऐसी memory से जिसे की सिर्फ रीड किया जा सकता है, उसमे कोई भी बदलाव नहीं किया जा सकता है। ROM के ऐसी memory है जिसका इस्तेमाल विभिन्न तरह की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में स्टोरेज के लिए किया जाता है।

ROM का फुल फॉर्म क्या है- ROM Full form in Hindi & English

ROM का फुल फॉर्म क्या है- ROM Full form in Hindi & English

Read only memory (ROM) में जब एक बार किसी डाटा को स्टोर कर दिया जाता है तो उसे बदला नहीं जा सकता है। ROM (Read only memory) की सबसे अच्छी बात यह होती है कि यह एक non-volatile Memory होती है जिसकी खास बात यह है कि डिवाइस को बंद कर देने पर या बिजली न होने की स्थिति में भी इसमें से डाटा डिलीट नहीं होता। ROM (read-only memory) को फर्मवेयर (firmware) के रूप में भी जाना जाता है जो कि सिस्टम सॉफ्टवेयर को स्टोर करने के लिए इस्तेमाल की जाती है।

ROM कितने प्रकार की होती है- How many types of ROM are there?

Read Only Memory कई तरह की हो सकती है जिसके बाद में हम आपको बताने जा रहें हैं।

MROM (Mask read only memory)

MROM का फुल फॉर्म Mask read only memory होता है। आपको बता दें कि यह एक चिप होती है जिसे इसके data के साथ बनाया जाता है। यह ROM बेहद किफायती होती है जिसमे से Pre-Program Instruction शामिल होते हैं।

PROM (Programmable Read-Only Memory)

PROM का फुल फॉर्म Programmable Read-Only Memory होता है। बता दें कि यह एक blank चिप होती है जिसमें पहले से कोई डाटा नहीं होता। इस पर यूजर डाटा को स्टोर कर सकता है। लेकिन PROM में कोई भी डाटा डालने के बाद आप उसे बदल नहीं सकते।

EPROM (Programmable Read-Only Memory)

EPROM का फुल फॉर्म Programmable Read-Only Memory होता है। अगर एक EPROM चिप को कुछ समय के तेज पराबैंगनी प्रकाश में रखा जाए तो इसके डाटा को डिलीट किया या हटाया जा सकता है। जब आप एक बार इस चिप से डाटा डिलीट हो जाता है तो आप इस पर नये डाटा को स्टोर भी कर सकते हैं।

EEPROM (Electrically erasable programmable read-only memory)

EEPROM का फुल फॉर्म Electrically erasable programmable read-only memory होता है। यह memory EPROM की तरह ही होती है क्योंकि इसमें स्टोर किये गए डाटा को हटाया जा सकता है। इस memory में डाटा को Electrically डिलीट किया जा सकता है और जब एक बार डाटा हट जाता है तो उसे Electrically फिर से स्टोर किया जा सकता है।

Also Read:- PC का फूल फॉर्म क्या है- PC Full form in Hindi & English

Also Read:- CPU का फुल फॉर्म क्या है- CPU full form in Hindi & English

Flash memory

Flash memory भी EEPROM की तरह स्टोरेज मैकेनिज्म है जिसे Electrically मिटाया जा सकता है और फिर से इस पर प्रोग्राम को स्टोर किया जा सकता है। आपको बता दें की Flash memory में डाटा को सामान्य EEPROM की तुलना में जल्दी तेजी से हटाया या स्टोर किया जा सकता है।

ROM के लाभ क्या है (What are the advantages of Read only memory in Hindi)

ROM कुछ ऐसे लाभ हैं जो इसे दूसरी memory से अलग करते हैं, नीचे हमने read-only memory के कुछ लाभ के बारे में बात की है।

  • रोम की सबसे खास बात यह होती है कि इस memory में डाटा को बनाए रखने या स्टोर रखने के लिए डिवाइस को ओन रखने या फिर निरंतर बिजली की आपूर्ति की की आवश्यकता नहीं होती। अगर किसी कारणवश बिजली चली जाए या डिवाइस बंद हो जाए तो इसमें स्टोर डाटा डिलीट नहीं होता।
  • ROM एक किफायती memory होती है। इसलिए इसे सस्ती डिवाइस में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • यह एक सुरक्षित memory क्योंकि अचानक बिजली चली जाने पर भी इसमें डाटा स्टोर रहता है।
  • सुरक्षा की दृष्टि से ROM बहुत अच्छी memory है क्योंकि इसमें एक बार write किया गया डाटा हटाया नहीं जा सकता है। इसलिए गलती से डाटा डिलीट होने की सम्भावना न के बराबर होती है।

रोम के नुकसान (Disadvantages of Read only memory in Hindi)

ROM की स्टोरेज क्षमता काफी कम होती है जिसकी किसी बड़े डाटा को स्टोर करने के लिए इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता।

यह memory धीमी होती है और इसका सबसे बड़ा disadvantage यह है कि इसमें जो डाटा एक बार लिख दिया उसे मिटाया नहीं जा सकता।

 

If you like information about ROM का फुल फॉर्म क्या है- ROM Full form in Hindi & English then share with your friends.

Leave a Comment