RAM का फुल फॉर्म क्या है? – RAM full form in Hindi & English

RAM का फुल फॉर्म क्या है? – RAM full form in Hindi & English:- RAM का फुल फॉर्म Random-Access Memory होता है। यह किसी भी कंप्यूटर या फिर स्मार्टफ़ोन में Primary memory कहा जाता है। आपको बता दें कि यह कंप्यूटर में एक अस्थाई मेमोरी या वोलेटाइल मोमोरी होती है। इसका मतलब यह है कि जब भी कंप्यूटर को ऑफ कर दिया जाता है तो इस memory में मौजूद डाटा मिट जाता है। Random-Access Memory कंप्यूटर और मोबाइल फ़ोन जैसी electronic device एक मुख्य भागों में से एक है।

RAM का फुल फॉर्म क्या है? – RAM full form in Hindi & English

RAM का फुल फॉर्म क्या है? – RAM full form in Hindi & English

आपको बता दें कि किसी भी कंप्यूटर डिवाइस में मुख्य रूप से 3 पार्ट होते हैं जिसे RAM, CPU और ROM कहा जाता है। ROM डिवाइस की स्थाई memory होती है जो कि किसी भी data को स्थाई रूप से स्टोर कर सकती है। लेकिन RAM एक अस्थाई memory होती है। इसका मतलब यह है कि जब भी हमें किसी डाटा की जरूरत होती है तो वो RAM में लोड हो जाता है। RAM कंप्यूटर की एक बहुत ही हाई स्पीड memory होती है किसी कंप्यूटर या स्मार्टफ़ोन में जितनी ज्यादा RAM होगी वो उतना ही fast काम करेगी। इसलिए आजकल लोग ज्यादा RAM वाले मोबाइल फ़ोन और लैपटॉप कि तरफ आकर्षित होती हैं। आजकल जो भी मोबाइल फ़ोन आ रहें हैं उनमे 4 GB से लेकर 12 GB तक की RAM होती है। लेकिन कंप्यूटर की बात करें तो इसमें 32 GB तक की RAM भी आती है।

RAM का इतिहास (History of RAM in Hindi)

शुरुआत में जो भी कंप्यूटर आये थे उनमे RAM के रूप में डिले लाइन्स, रिले और मैकेनिकल काउंटर्स का इस्तेमाल किया जाता था। लेकिन इनमे बहुत कमियाँ थी क्योंकि यह बहुत कम डाटा स्टोर कर पाते थे। और जिस क्रम में इनमे डाटा स्टोर किया जाता था सिर्फ उसी क्रम में डाटा को पढ़ा जा सकता था। जो सबसे पहले RAM बनाई गई थी उसका नाम Williams tube जो कि 1947 में आई थी। लेकिन random access memory का अविष्कारक रॉबर्ट डेनार्ड को कहा जाता है जिन्होंने 1968 में इस कॉम्पोनेन्ट का पेटेंट कराया था। रॉबर्ट डेनार्ड द्वारा RAM को transistors का उपयोग करके बनाई गई थी जो कि आज इस्तेमाल की जाने वाले RAM का पहला चरण था।

RAM क्या हैं (What is Random-Access Memory in Hindi)

RAM किसी भी कंप्यूटिंग डिवाइस की वर्किंग मेमोरी होती है, क्योंकि यह बहुत ही तेज स्पीड के साथ काम करती है।

  • RAM Chip को लाखों कैपेसिटर और ट्रांजिस्टर से बनाया जाता है।
  • आज जो हाई स्पीड RAM इस्तेमाल की जा रही हैं उनमे एक मोमोरी सेल बनाने के लिए एक ट्रांजिस्टर और कैपेसिटर को एक साथ जोड़ा जाता है।
  • एक memory cell 1 बिट सुचना या डाटा को स्टोर करता है। इस तरह RAM में memory Size के अनुसार अरबों memory cell बनाए जाते हैं।

RAM के कार्य क्या हैं (What Is the Function of RAM)

RAM एक ऐसी मोमोरी है जिस पर ऑपरेटिंग सिस्टम और सॉफ्टवेयर काम करते समय लोड होते हैं। उदाहरण के लिए अगर आप अपने कंप्यूटर पर माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में कोई फाइल तैयार करना चाहते हैं तो यह सॉफ्टवेयर हमारे कंप्यूटर की हार्ड डिस्क पर इनस्टॉल होता है और जब हम इसके run करते हैं तो यह RAM में लोड होता है जहाँ से CPU उया Prosesor इसे आसानी से चला पता है। जब हम अपना काम पूरा होने के बाद माइक्रोसॉफ्ट वर्ड सॉफ्टवेयर को बंद कर देंगे तो यह RAM में से मिटा दिया जायेगा।

इस प्रकार हम स्मार्टफ़ोन में भी किस भी application को RAM की सहायता से चला पाते हैं। उदाहरण के लिए अगर आप अपने स्मार्टफ़ोन में किस गेम को इनस्टॉल करते हैं तो वह आपके फ़ोन की memory में save हो जायेगा। लेकिन जब आप इस गेम को run करेंगे तो यह RAM में लोड होता और प्रोसेसर उस गेम को प्रोसेस करेगा।

RAM एक बहुत ही fast memory होती है। यह प्रोसेसर को बहुत ही तेजी से डाटा डिलेवर और प्राप्त करती है। इसकी ही मदद से हमारे कंप्यूटर और फ़ोन तेजी से काम कर पाता है।

अगर हमारे system में RAM कम है तो कोई भी हैवी सॉफ्टवेयर या ज्यादा application खोलने पर हमारा सिस्टम हैंग हो जाता है।

RAM कितने प्रकार की होती हैं (What are the types of RAM)

आजकल जो कंप्यूटर आ रहें हैं उनमे दो तरह की RAM इस्तेमाल की जाती है जिसके बारे में हमने नीचे जानकारी दी है।

Static RAM (DRAM)

Static RAM में बहुत कम डाटा स्टोर करने के लिए 6 MOSFET का इस्तेमाल किया जाता है। इस तरह की RAM को बनाने में खर्चा ज्यादा आता है। लेकिन इस RAM की खास बात यह होती है कि इसकी speed बहुत तेज होती है और यह कम बिजली की खपत करती है। इस तरह की RAM का इस्तेमाल Super computer में किया जाता है।

Dynamic RAM (DRAM)

इस RAM में थोड़ा डाटा स्टोर करने के 1 MOSFET का उपयोग किया जाता है। इस RAM को बनाने में खर्चा काम आता है लेकिन यह Static RAM की तुलना में धीमी होती है और अधिक बिजली की खपत करती। वर्तमान में हम जो कंप्यूटर इस्तेमाल करते हैं उनमे Dynamic RAM (DRAM) का उपयोग किया जाता है।

 

If you like information about RAM का फुल फॉर्म क्या है? – RAM full form in Hindi & English then share with your friends.

Leave a Comment