PhD का फुल फॉर्म क्या है? – PhD full form in Hindi & English

PhD का फुल फॉर्म क्या है? – PhD full form in Hindi & English:- PhD का फुल फॉर्म Doctor of Philosophy होता है। आपको बात दें कि PhD एक एक डॉक्टरेट की डिग्री है जिसे पूरा करने में किसी भी उम्मीदवार को 3 साल का समय लग सकता है। हालांकि, कोई भी 5 से 6 वर्षों में इस डिग्री को पूरा कर सकता है। भारत में PhD को “Doctor of Philosophy” कहा जाता है। अन्य देशों में यह डिग्री PhD, DPhil, या DPhil से भी जानी जाती है। जब कोई भी उम्मीदवार Doctor of Philosophy की डिग्री पूरी कर लेता है तो वह अपने नाम के आगे ‘Doctor’ लगा सकता है और उसे एक डॉक्टर माना जाता है। PhD को एक बहुत ही अच्छा कोर्स मन जाता है और जो भी उम्मीदवार PhD की डिग्री प्राप्त कर लेता है तो उसे अपने क्षेत्र या प्रोफेशन में बहुत ही ज्यादा योग्य माना जाता है।

आपको बता दें कि पहले उम्मीदवार PHD distance mode से भी कर सकते थे लेकिन UGC के द्वारा 2017 में इस डिग्री को distance mode से करने की मान्यता खत्म कर दी गई थी।

PhD का फुल फॉर्म क्या है? – PhD full form in Hindi & English

PhD का फुल फॉर्म क्या है? – PhD full form in Hindi & English

PHD कोर्स किन सब्जेक्ट्स में किया जा सकता है (In what subjects can PhD be done)

PHD एक ऐसी डिग्री है जिसे करने के बाद उम्मीदवार के लिए रोजगार के रास्ते खुल जाते हैं। इसमें वैसे तो बहुत सारे सब्जेक्ट्स शामिल हैं जिससे आप इस डिग्री को पूरा कर सकते हैं लेकिन अगर आप कोई सोच समझ कर कोई अच्छा कोर्स चुनते हैं तो इससे आपकी नौकरी पाने की सम्भावना और भी ज्यादा हो जाती है। यहाँ हम कुछ सब्जेक्ट्स के नाम शेयर कर रहें हैं जिनसे आप PhD की डिग्री पूरी कर सकते हैं।

इंजीनियरिंग (engineering)
अर्थशास्त्र (Economics)
आंकड़े (statistics)
गणित (mathematics)
जीव रसायन (Biochemistry)
जैव प्रौद्योगिकी (Biotechnology)
भौतिक विज्ञान (Physics)
रसायन शास्त्र (Chemistry)
लेखांकन (accounting)
वित्त (finance)
संगठनात्मक व्यवहार (Organizational Behavior)
स्वास्थ्य देखभाल का प्रबंधन (health care management)

 

क्या PhD करने के लिए उम्मीदवार में कौनसे गुण होने चाहिए (Most Essential Qualities Of An Ideal Doctor of Philosophy Candidate)

ऐसा जरुरी नहीं कि PhD करना सबके लिए अच्छा होता है या सभी को इस डिग्री को प्राप्त करने के बाद सफलता मिल जाती है। आपको बता दें कि इस डिग्री को पूरा करने के बाद भी उम्मीदवार में किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने के लिए कुछ यूनिक स्किल होना चहिये, जैसे शोध करने की क्षमता, किसी भी कार्य के लिए पूरा समर्पण, मेहनती स्वाभाव और अच्छी रिटेन स्किल। हर इंसान में कुछ ऐसे स्किल होते हैं जो उसे जन्म से ही प्राप्त होते हैं लेकिन कुछ स्किल भी होते हैं जिसे कोर्स के दौरान प्राप्त किया जा सकता है।

Also Read:- LLB का फुल फॉर्म क्या है? – LLB full form in Hindi & English

Also Read:- ICU का फुल फॉर्म क्या है- ICU Full form in Hindi & English

PhD की पात्रता मापदंड (Eligibility Criteria for Doctor of Philosophy in Hindi)

जो भी उम्मीदवार अपने करियर को अच्छा बनाने के लिए PhD करना चाहते हैं उन्हें इसमें एडमिशन लेने के लिए कुछ पात्रता मानदंड को पूरा करना होगा। नीचे हमने PhD के लिए पात्रता मानदंड की जानकारी दी है।

  • जो भी उम्मीदवार PhD करना चाहता है उसके पास उस सब्जेक्ट या क्षेत्र में master degree होना चाहिए।
  • कुछ कॉलेज में PhD करने के लिए MPhil भी पूरा होना चाहिए। लेकिन कुछ कॉलेज में अलग मानदंड हो सकते हैं।
  • उम्मीदवार जिस कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने जा रहें हैं उन्हें उस कॉलेज के पात्रता मापदंड को पूरा करना होगा।

PhD के लाभ (Benefits of PhD in Hindi)

  • PhD एक ऐसी डिग्री है जिसे करने के बाद आपको अपने करियर में कई फायदे मिलेगे। भले ही अपने किसी भी क्षेत्र या सब्जेक्ट से PhD किया हो आपको एक non- PhD उम्मीदवार से ज्यादा वरीयता दी जाएगी।
  • PhD करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपके रोजगार के अवसर काफी ज्यादा हो जायेगे। एक बार जब आप PhD की डिग्री पूरी कर लेते हैं तो आपको अच्छी सैलरी के साथ जॉब मिलेगा। PhD के साथ आप अपनी फील्ड में ज्यादा ज्ञान और अनुभव भी प्राप्त कर सकते हैं। इस डिग्री को हासिल करने के बाद आप किसी भी अच्छे कॉलेज या यूनिवर्सिटी में पढ़ा भी सकते हैं।
  • PHD डिग्री की मान्यता काफी ज्यादा होती है क्योंकि इस डिग्री हो हासिल करना हर किसी के बस की बात नहीं होती है। इसलिए जो भी उम्मीदवार इस डिग्री को पूरा कर लेता है तो उसे अपने समाज और क्षेत्र में मान्यता दी जाती है।
  • जब कोई उम्मीदवार PhD कर रहा होता है तो उसे अपने क्षेत्र के कुछ अच्छे विशेषज्ञों के साथ बात करने का मौका भी मिलता है।
  • PhD के दौरान आप अपने सब्जेक्ट में बहुत ज्यादा ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं। PhD में आपको अपने क्षेत्र में अधिक ज्ञान प्राप्त करने का मौका मिलता है।
  • एक PhD करने वाले उम्मीदवार को अन्य डिग्री धारकों की तुलना में अपने क्षेत्र में ज्यादा ज्ञान होता है। इसलिए उसे Non PhD कैंडिडेट की तुलना में बहुत अधिक वेतन मिलता है।

 

If you like information about PhD का फुल फॉर्म क्या है? – PhD full form in Hindi & English then share with your friends.

Leave a Comment