NGO का फुल फॉर्म क्या है – NGO full form in Hindi & English

NGO का फुल फॉर्म क्या है – NGO full form in Hindi & English:-NGO का फुल फॉर्म Non-Governmental Organization होता है जिसे हिंदी में “गैर सरकारी संगठन” कहा जाता है। NGO को NPO (Non-Profit Organization) के रूप में भी जाना जाता है। आपको बता दें कि NGO का मुख्य लक्ष्य सामाजिक संरचना में सुधार करना, बच्चों और गरीबो की मदद करना और पर्यावरण के मुद्दों को ठीक करना होता है। Non-Governmental Organization सामाजिक आर्थिक सुधार और सशक्तिकरण के लिए भी काम करते हैं।

NGO गांव, शहर और राष्ट्रीय स्तर पर भी काम करते हैं। NGO किसी के द्वारा संचालित नहीं किये जाते और इसमें किसी तरह की आय या प्रॉफिट को बांटा नहीं जाता। इसमें जो भी धन प्राप्त किया जाता है उसका निवेश गैर-लाभकारी कार्यक्रमों (non-profit programs) में कर दिया जाता है। अक्सर NGO के बारे में बहुत सारे सवाल पूछे जाते है जैसे NGO कैसे काम करता है, इसका पूरा नाम क्या और भारत के प्रमुख NGO कौनसे हैं। अगर आप भी NGO के बारे में इन सभी जानकारी को प्राप्त करना चाहते हैं तो इस लेख को आगे जरुर पढ़ें।

NGO का फुल फॉर्म क्या है – NGO full form in Hindi & English

NGO का फुल फॉर्म क्या है – NGO full form in Hindi & English

NGO के लाभ क्या हैं- What are the benefits of NGO in Hindi

एक NGO को शुरू करने के समाज के लिए बहुत सारे लाभ हैं जिनके बारे में हमने नीचे जानकारी दी है।

  • देश में साक्षरता की दर में बढ़ोतरी।
  • ग्रामीण महिलाओं और बच्चों की नेतृत्व करने की क्षमता को बढ़ाता है।
  • देश के युवाओं और गाँव की महिलाओं को अधिक रचनात्मक बनाने के लिए प्रोत्साहित करता है।
  • ग्रामीण महिलाओं और देश के बेरोजगार युवाओं को अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए प्रोत्साहित करता है।
  • कई स्तर पर जीवन के मानकों में सुधार करता है।
  • अभिनव दृष्टिकोण और बेहतर संचार
  • NGO को बनाए रखने के लिए मानक राजस्व स्रोत
  • बहुपक्षीय संगठन से अनुदान
  • एकतरफा एजेंसियों से फंडिंग

NGO कितने प्रकार के होते हैं- What are the types of NGOs in Hindi

अगर ऐसी प्रश्न पूछे जाते हैं कि NGO कितने प्रकार के होते हैं और वे क्या काम करते हैं। आपको बता दें कि गैर सरकारी संगठनों (NGO) उनके काम के अनुसार  वर्गीकृत किया जाता है। जिसका मतलब है कि एक NGO द्वारा की जाने वाली गतिविधियाँ जैसे कि मानवाधिकार (human rights), उपभोक्ता संरक्षण (consumer protection),  स्वास्थ्य (health), पर्यावरणवाद (environmentalism), या विकास (development) और उनके काम करने के स्तर  क्षेत्रीय, स्थानीय, राष्ट्रीय या अंतर्राष्ट्रीय आदि के हिसाब वर्गीकृत किया जा सकता है।

दान (Charities)

इसमें ऐसे NGO शामिल हैं जो गरीब लोगो और वंचित लोगों के समूहों कीआवश्यकताओं को पूरा करने के लिए काम करते हैं।

सेवा (service)

इसमें ऐसे NGO हैं जो स्वास्थ्य सेवा (परिवार नियोजन सहित) और शिक्षा के क्षेत्र में काम करते हैं।

सशक्तिकरण (Empowerment)

इस मुद्दों पर जो NGO काम करते हैं उनका उद्देश्य गरीब लोगों को उनके जीवन को प्रभावित करने वाले राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक कारकों को जानने में मदद करना और इसको कंट्रोल करने की उनकी शक्ति के प्रति जागरूक करना है।

Also Read:- CRPF फुल फॉर्म क्या है-CRPF Full form in Hindi & English

Also Read:- CPU का फुल फॉर्म क्या है- CPU full form in Hindi & English

भारत के कुछ प्रसिद्ध NGO- Popular NGOs Of India In Hindi

Name of The NGO in Hindi & English Official Websites
Akshya Trust (अक्षय ट्रस्ट) https://www.akshayatrust.org/
Deepalaya (दीपालय) https://www.deepalaya.org/
Goonj (गूंज) https://goonj.org/
HelpAge India (हेल्पएज इंडिया) https://www.helpageindia.org/
Karmayog- कर्मयोग https://karmyog21c.in/
LEPRA Society- लेप्रा सोसायटी https://leprasociety.in/
Pratham-प्रथम https://www.pratham.org/
Sammaan Foundation- सम्मान फाउंडेशन https://www.sammaanfoundation.com/
Sargam Sanstha- सरगम ​​संस्था https://sargamsanstha.com/
Smile Foundation- मुस्कान फाउंडेशन https://www.smilefoundationindia.org/
Udaan Welfare Foundation- उड़ान वेलफेयर फाउंडेशन https://www.udaanwelfare.org/
Uday Foundation – उदय फाउंडेशन https://www.udayfoundation.org/

 

NGO के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न- Frequently asked Questions about NGOs in Hindi

 

Question: NGO का फुल फॉर्म क्या होता है?

NGO का फुल फॉर्म अंग्रेजी में नॉन प्रॉफिट आर्गेनाइजेशन और हिंदी में गैर-सरकारी संगठन है।

Question: NGO का काम क्या है?

समाज और समुदाय के कल्याण को बढ़ावा देने के लिए परियोजनाओं को चलाना, मानवाधिकार (human rights), महिलाओं को खुद का व्यवयास स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करना, बेरोजगारों को प्रोत्साहित करना, गरीबों की जरूरतों को पूरा करना आदि।

NGO का रजिस्ट्रेशन कैसे होता है ?

इसका रजिस्ट्रेशन आयकर अधिनियम की धारा 80जी के तहत होता है।

क्या NGO बिना रजिस्ट्रेशन के काम कर सकते हैं?

सिद्धांत में बात करें तो NGO को कल्याणकारी या विकासात्मक कार्य करने के लिए रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं है।

क्या सिर्फ एक व्यक्ति NGO शुरू कर सकता है?

ट्रस्ट रजिस्ट्रेशन में NGO शुरू करने के लिए कम से कम 2 लोगों की जरूरत होती है।

NGO पैसे कैसे जुटाते हैं?

गैर सरकारी संगठन यानी NGO निजी व्यक्तियों, दिग्गज कंपनी, धर्मार्थ फाउंडेशनों और सरकारों से दान प्राप्त करके पैसे जुटाते हैं।

If you like information about NGO का फुल फॉर्म क्या है – NGO full form in Hindi & English then share with your friends.

Leave a Comment