LED का फुल फॉर्म क्या है LED Full form in Hindi & English

LED का फुल फॉर्म क्या है LED Full form in Hindi & English:- LED  का फुल फॉर्म Light-emitting diode होता है जिसका हिंदी में मतलब प्रकाश उत्सर्जक डायोड (LED) होता है। प्रकाश उत्सर्जक डायोड (LED) विद्युत उपकरणों में प्रकाश का व्यापक रूप से उपयोग किया जाने वाला एक मानक स्रोत है। इसका इस्तेमाल light में या बल्ब में आजकल सबसे ज्यादा किया जाता है।आपको बता दें कि मोबाइल फोन, LED TV से लेकर बड़े-बड़े विज्ञापन होर्डिंग में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसका digital Watch के अलावा विभिन्न तरह के डाटा को डिस्प्ले करने के लिए भी किया जाता है।

LED का फुल फॉर्म क्या है LED Full form in Hindi & English

LED का फुल फॉर्म क्या है LED Full form in Hindi & English
LED का फुल फॉर्म क्या है LED Full form in Hindi & English

एलईडी (LED) लाइट्स कैसे काम करती हैं (How do LED lights work in Hindi)

एलईडी बल्ब एक अर्धचालक सामग्री के माध्यम से विद्युत प्रवाह को पारित करके प्रकाश उत्पन्न करता है। डायोड – जो इलेक्ट्रोल्यूमिनेशन के सिद्धांत के माध्यम से फोटॉन (प्रकाश) का उत्सर्जन करता है। यह एक P–N junction diode होती है जो की सक्रिय हो जाने पर प्रकाश उत्सर्जित करती है। जब उसके leads पर एक उपयुक्त वोल्टेज लागू किया जाता है तब उसमें उपस्थित electrons, device में उपस्थित electron holes के साथ पुनः संयोजित (recombine) हो जाते हैं। जिससे वह ऊर्जा को photons के form में रिलीज करते हैं। इस प्रक्रिया को इलेक्ट्रोल्यूमिनेसिसेंस (electroluminescence) कहा जाता है और यहाँ पर लाइट के कलर को (जो की Photon की उर्जा को अनुरूप करती है) semiconductor के energy band gap के द्वारा determine किया जाता है।

 

LED का इतिहासHistory of the LED in Hindi

LED के इतिहास की बात करें तो इसके बाद में बिल्कुल सही-सही कुछ भी ज्ञात नहीं है लेकिन इसकी शुरुवात अर्द्धचालक के खोज के बाद ही कही जाती है। माना जाता है की LED का अविष्कार 1907 में ब्रिटिश वैज्ञानिक H.J Round द्वारा मार्कोनी लैब में electroluminescence के खोज के बाद किया गया। electroluminescence (इलेक्ट्रोल्यूमिनेसेंस) एक अर्धचालक, होता है जो इसे विद्युत प्रवाह में प्रकाश उत्सर्जित करने में सक्षम बनाता है। जब कोई तेजी से घूमता हुआ इलेक्ट्रान, फॉस्फोरस या इसके यौगिक से टकराता है तो प्रकाश उत्पन्न होता है। चूँकि LED भी इसी सिद्धांत पर कार्य करती है।

 

वर्तमान में हम जिस LED का इस्तेमाल कर रहें हैं उसकी खोज सन 1961 में अमेरिका के Texas Instruments Lab में गैरी पिटमैन (Gary Pittman) तथा रोबर्ट बिअर्ड (Robert Beard) के द्वारा की गई थी। इन दोनों वैज्ञानिको द्वारा पहली बार एक इंफ़्रा रे (Infra Ray) उत्पन्न करने वाला डायोड का निर्माण किया गया था। इस LED को बनाने के लिए इन दोनों वैज्ञानिको ने गैलियम आर्सेनाइड नामक पदार्थ का उपयोग किया था। LED बनाने का यह शुरुवाती दौर था जिसने आज डिजिटल वर्ल्ड में क्रांति ला दी है।

जिस रंग-बिरंगी LED का इस्तेमाल आज किया जा रहा है इन्हें सन 1962 निक होलोनायक द्वारा बनाया गया था। बता दे कि होलोनायक General Electric में बतौर इंजीनियर काम करते थे। होलोनायक को ही LED का जनक कहा जाता है। इसके बाद LED पर और काम किया गया और जिसका नतीजा आज यह निकला है कि हम वर्तमान में कई तरह से device में इसका इस्तेमाल कर पा रहें हैं। सिर्फ LED प्रकाश के लिए ही नहीं बल्कि LED TV, Car  की लाइट, मोबाइल फ़ोन, डिस्प्ले, LED टोर्च आदि में भी इस्तेमाल की जाती है।

Also Read:- OBC फुल फॉर्म क्या है- OBC Full Form in English & Hindi

Also Read:- इंडिया का फुल फॉर्म क्या है- India Full Form in Hindi

एलईडी (LED) का उपयोग क्यों किया जाता है?

एलईडी (LED) को इस्तेमाल करने का सबसे बड़ा कारण यह होता है कि यह जल्दी ख़राब नहीं होती साथ ही इसे कम बिजली की आवश्यकता होती है।  तेज प्रतिक्रिया समय और तेजी से स्विचिंग के कारण कई क्षेत्रों में इसका उपयोग किया जाता है। इसका उपयोग कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में इंडिकेटर लैंप (indicator lamps) के रूप में, कार तथा अन्य वाहनों के रियर-विंडो (rear-window) और ब्रेक लाइट (brake lights) में, और होर्डिंग और सिग्नल पर अल्फ़ान्यूमेरिक डिस्प्ले या यहां तक कि पूर्ण-रंग वाले पोस्टर के रूप में किया जाता है।

 

एलईडी के फायदेLEDs Advantages in Hindi

  • Light-emitting diode का सबसे बड़ा एडवांटेज यह है कि इसे बहुत ही कम voltage और current आवश्यकता होती है।
  • LED का Voltage range – 1 to 2 volts व Current – 5 to 20 mill amperes होता है।
  • यहाँ total power output बहुत हो कम होता है 150 mill watts से।
  • इसका प्रतिक्रिया समय बहुत ही कम होता है – जो की केवल 10 nanoseconds है।
  • LED को किसी भी heating और warm-up time की जरुरत नहीं होती है।
  • Light-emitting diode आकार में छोटी होती है व इनका बजन भी बहुत कम होता है।
  • LED का जीवनकाल 20 सालों से भी ज्यादा होता है।

 

LED के नुकसान- LEDs Disadvantages in Hindi

  • LED पर अगर थोडा भी अधिक voltage और current का इस्तेमाल किया किया जाए तो यह आसानी से ख़राब हो सकती है।
  • विस्तृत क्षेत्र (Wide area) में LED थोड़ी कम प्रभावी होती है।
  • High cost के कारण LED का प्रयोग wide area कम किया जाता है।
  • LED के ज्यादा प्रयोग से हमारे शरीर में विटामिनB12 की हो सकती है।

 

If you like information about LED का फुल फॉर्म क्या है LED Full form in Hindi & English then share with your friends.

Leave a Comment