ED का फुल फॉर्म क्या है? – ED full form in Hindi & English

ED का फुल फॉर्म क्या है? – ED full form in Hindi & English:- ED की फुल फॉर्म Enforcement Directorate होता है लेकिन इसके अलावा ED की अन्य फुल फॉर्म भी होती है जिनके बारे में नीचे दिया गया है। आपने अपने टीवी चैनल पर ED से जुड़ी खबरें जरूर सुनी होंगी। इसलिए आज हम आपको ED से सम्बंधित जानकारी इस पोस्ट में देंगें। ED की फुल फॉर्म Enforcement Directorate होती है और इसे हिंदी में “प्रवर्तन निदेशालय” के नाम से जाना जाता है। एक एक प्रकार की सरकारी एजेंसी है जिसको खुफिया जांच एजेंसी भी कहा जाता है। इस एजेंसी का काम अधिक कमाई से ज्यादा कैश रखने वाले लोगों की जांच करना होता है।

ED का फुल फॉर्म क्या है? – ED full form in Hindi & English

ED का फुल फॉर्म क्या है? – ED full form in Hindi & English

ED क्या है (What is Enforcement Directorate in Hindi)

यह एक सरकारी एजेंसी है जो प्रवर्तन निदेशालय भारत सरकार के अधीन काम करती है। इस सरकारी एजेंसी का काम मनी लॉन्ड्रिंग की जांच करना और कमाई से अधिक लोगो की जांच करना होता है। इसके अलावा जिन भारतीय नागरिकों की संपत्ति विदेश में है या मनी लॉन्ड्रिंग का काम करते है तो ED का काम इसकी जांच करना होता है।

ED का क्या इतिहास है (History of Enforcement Directorate in Hindi)

ED (Enforcement Directorate) को सन 1 मई 1956 में स्थापित किया गया था और दिल्ली में ही सबसे पहले इसकी स्थापना की गई थी। ED का मुख्य कार्यालय दिल्ली में ही मौजूद है। सबसे पहले इस एजेंसी का नाम प्रवर्तन इकाई रखा गया था लेकिन सन 1957 में इसका नाम बदलकर प्रवर्तन निदेशालय कर दिया गया था।

नई दिल्ली के अलावा ED के मुख्यालय कोलकाता, हैदराबाद, मुंबई और चंडीगढ़ में भी स्थित है। इन सभी कार्यकालों के अलावा ED के कई उपक्षेत्र आधारित कार्यालय भी है। आपको बता दें कि भारतीय कॉर्पोरेट कानून सेवा, संयुक्त अधिकारी, भारतीय पुलिस सेवा और भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी भी ED एजेंसी में काम करते है।

ED क्या काम करती है (What does Enforcement Directorate do in Hindi)

  • ED का मुख्य काम आय से अधिक लोगो की कमाई की जांच करना है। यदि किसी व्यक्ति के पास आय से अधिक कमाई होती है और वह दोषी पाया जाता है तो इसकी सजा भी होती है।
  • यदि किसी व्यक्ति के पास गलत तरीके से विदेशी मुद्रा पाई जाती है तो उस व्यक्ति के बारे में जांच करना ED का ही काम है।
  • ED एजेंसी भारतीय नागरिक की विदेशी संपत्ति पर भी कार्यवाही कर सकती है।

ED Officer कैसे बने (How to become an Enforcement Directorate Officer in Hindi)

  • यदि आप एक युवा स्टूडेंट है और आप सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे है तो ED एजेंसी का अफसर बनना आपके लिए एक नई दशा हो सकती है। आइये जानते है कि ED अफसर कैसे बने –
  • ED Officer बनने के लिए युवक को ग्रेजुएशन पास होना जरूरी है। आप किसी भी विषय से अपनी ग्रेजुएशन पूरी कर सकते हो।
  • हर सरकारी नौकरी में आयु की एक सीमा होती है यदि आपकी उम्र 21 से 27 के बीच है तो आप ED अफसर बन सकते हो।
  • ED Officer बनने के लिए एसएससी सीजीएल का एग्जाम देना होता है। यदि आप इस एग्जाम को पास कर लेते हो तो आप आसानी से एक ED Officer बन सकते हो।

भारत में प्रवर्तन निदेशालय के कार्यालय कहाँ स्थित है ?

जब ED एजेंसी को शुरू किया गया था तो शुरुआत में भारत में इसके सिर्फ दो कार्यालय ही थे लेकिन आज के समय में इस एजेंसी के 10 कार्यालय स्थित है जो कि इस प्रकार है।

  • अहमदाबाद
  • हैदराबाद
  • दिल्ली
  • कोलकाता
  • चेन्नई
  • मुम्बई
  • चंडीगढ़
  • कोचीन

भारत में ED अफसर की सैलरी कितनी होती है (What is the salary of ED officer in India in Hindi)

ED अफसर के ऊपर काफी जिम्मेदारी होती है और एक ED अफसर बनने के लिए काफी मुश्किलों का सामना भी करना पड़ता है। यदि आप एक ED अफसर बनना चाहते है तो आपके मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि एक ED अफसर की कमाई कितनी होती है तो आपको बता दें कि ED अफसर की महीने की कमाई 50000 से लेकर 100000 रुपए तक होती है। एक ED अफसर की कमाई उसके पद पर निर्भर करती है। इसलिए ED अफसर के हर व्यक्ति की महीने की कमाई कम या ज्यादा हो सकती है।

ED की अन्य फुल फॉर्म

Early Deployment
Economic Development
Emergency Department
Engineering Design
Enterprise Development
Enterprise Development
Enumeration District
Environmental Damage
Extremely Disappointing

 

If you like information about ED का फुल फॉर्म क्या है? – ED full form in Hindi & English then share with your friends.

Leave a Comment