ATM का फुल फॉर्म क्या होता है (Full form of ATM in Hindi)

ATM का फुल फॉर्म क्या होता है (What is the Full form of ATM in Hindi)

ATM का फुल फॉर्म Automated Teller Machine होता है। आपको बता दें कि ATM (ऑटोमेटेड टेलर मशीन) एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जिसका उपयोग पैसों के लेनदेन (Transaction) के लिए किया जा है। जैसा कि ऑटोमेटेड टेलर मशीन (Automated Teller Machine) नाम से ही समझ आता है कि यह एक ‘Automated’ बैंकिंग प्लेटफॉर्म है जिसमें लेनदेन करने के लिए किसी भी बैंकिंग कैशियर की जरूरत नहीं पड़ती।

ऑटोमेटेड टेलर मशीन क्या है (Automated Teller Machine in Hindi)

जैसा कि हम आपको बता चुकें है कि एटीएम का फुल फॉर्म ऑटोमेटेड टेलर मशीन होता है जो कि सेल्फ सर्विस बैंकिंग की सुविधा प्रदान करती है । इस मशीन की मदद से आप पैसों का लेनदेन, पैसे निकालना, पैसे जमा करना और अपना बैलेंस चेक करना या फंड ट्रांसफर जैसी सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। आजकल कई सारे बैंक देश के लगभग सभी हिस्सों में कैश मशीन (Cash Machine) लगाकर अपनी एटीएम सेवाएं प्रदान कर रहें हैं। ऑटोमेटेड टेलर मशीन (Automated Teller Machine) यानी कि ATM का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप देश के किसी भी कौने में हो, आपका अकाउंट किसी भी बैंक में हो फिर भी आप किसी भी बैंक के ATM से पैसे निकाल सकते हैं।

वैसे तो ATM से पैसे निकलना निःशुल्क हैं लेकिन कई बार कुछ बैंक आपसे मामूली शुल्क भी ले सकते हैं। लगभग सभी बैंक में एक महीने में पहले 3-5 ट्रांजेक्शन फ्री होते हैं लेकिन जब आप फ्री ट्रांजेक्शन की लिमिट को पूरा कर लेते हैं तो आपसे मामूली चार्ज लिया जाता है। कई बार जब आपका अकाउंट किसी अन्य बैंक में है और आप दूसरी बैंक के ATM से पैसे निकलते हैं तो पर भी आपका मामूली सा चार्ज काटा जाता है।

ATM कितने प्रकार के होते हैं (Types Of ATM in Hindi)

ATM मशीन वैसे 2 प्रकार की होती है जिसमें से एक साधारण होती है जिसमें आप ऐसे निकालने, अपना बैलेंस चेक करने, PIN बदलने, MINI Statement निकलना और account की अपडेट प्राप्त करने जैसे काम कर सकते हैं। इसके अलावा कुछ एडवांस मशीने ऐसी भी होती है जो कि cash या cheque जमा करने और बिल का भुगतान करने की सुविधा भी देती है।

शायद आप यह नहीं जानते होंगे कि कुछ ATM मशीन बैंक परिसर के अन्दर लगी होती हैं उन्हें ऑनसाइट (onsite) मशीन कहते हैं। वही जो मशीने देश के किसी भी कोने में लगी होती है जो लोगों को बुनियादी बैंकिंग सुविधाएं और तत्काल नकद निकासी की सुविधा प्रदान करती है उन्हें ऑफसाईट मशीन (Offsite) कहते हैं ।

लेबल के आधार पर ATM को विभिन्न रूप से वर्गीकृत किया जा सकता है।

ग्रीन लेबल एटीएम (Green Label ATM) कृषि से जुड़े कामों के लिए इस्तेमाल किया जाता है

 

येलो लेबल एटीएम (Yellow Level ATM) इसका इस्तेमाल ई-कॉमर्स लेनदेन (Transaction) के लिए किया जाता है
ऑरेंज लेबल एटीएम (Orange Level ATM) यह शेयर ट्रांजेक्शन के लिए इस्तेमाल होता है
पिंक लेबल एटीएम (Pink Level ATM)  महिलाओं के लिए इस्तेमाल होता है
व्हाइट लेबल एटीएम (white level ATM) टाटा समूह द्वारा पेश किये गए
ब्राउन लेबल बैंक (Brown Level ATM) किसी थर्ड पार्टी द्वारा जारी

 

आजकल कुछ मशीने बायोमेट्रिक ऑटोमेटेड भी हैं जिन्हें चलने के लिए फिंगर प्रिंट और आँखों के स्कैनर की आवयश्कता होती है।

Also Read:-CNG का फुल फॉर्म क्या है ? Full form of CNG in Hindi

Also Read:-CISF का फुल फॉर्म क्या है? Full Form of CISF in Hindi

ऑटोमेटेड टेलर मशीन के उपयोग क्या हैं- (Uses of Automated Teller Machine in Hindi)

ऑटोमेटेड टेलर मशीनों ने खाता धारको के लिए बैंकिंग सुविधा को आसान कर दिया और साथ ही बैंक में काम करने वाले कर्मचारियों के बोझ को भी काफी हद तक कम करके बैंकिंग सेक्टर में क्रांति ला दी है। एटीएम के कुछ उपयोग हैं।

 

  • एक ATM (ऑटोमेटेड टेलर मशीन) का सबसे ज्यादा उपयोग पैसे निकालना और बैलेंस चेक करने में होत्ता है। इसके अलावा अकाउंट होल्डर पैसे भी ट्रांसफर कर सकते हैं या अपना pin बदल सकते हैं।
  • इसके अलावा जो नई और एडवांस ATM मशीन आ रहें हैं उनमे आप FD अकाउंट खोल सकते हैं या लोन के लिए भी आवेदन कर सकते है।
  • ATM मशीन से आप रेलवे टिकट भी बुक कर सकते हैं साथ ही अपने बीमा की प्रीमियम भी भर सकते हैं।
  • आयकर और उपयोगिता बिलों का भुगतान भी आप ATM से अपना मोबाइल भी रिचार्ज कर सकते हैं और पैसे जमा कर सकते हैं। ऐसी सुविधाओं को इस्तेमाल करने के लिए आपको अपनी बैंक ब्रांच में रजिस्ट्रेशन करने की आवश्यकता पड़ सकती है।
  • ATM (ऑटोमेटेड टेलर मशीन) कहीं भी 24×7 सुविधा प्रदान करती है।
  • एक समय ऐसा था जब बैंक से पैसे निकालने के लिए लंबी लाइन में खड़ा होना पड़ता था लेकिन आज ATM की वजह से हमने ऐसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता और हमारा समय भी बच जाता है।
  • ATM से ग्राहक अपनी जरूरत के हिसाब पैसा निकाल सकते हैं। आजकल लगभग सभी बैंक ने अपने ATM रेलवे स्टेशन पर, हाइवेज पर, मॉल में, बाजारों हवाई अड्डे और अस्पतालों आदि में लगा दिए हैं।

एटीएम का उपयोग कैसे करें? (How to Use ATM in Hindi)

ATM द्वारा प्रदान की जाने वाले की सुविधा का लाभ उठाने के लिए आपका किसी भी बैंक में अकाउंट होना जरुरी है और उस अकाउंट का ATM Card होना चहिये। आजकल ज्यादातर बैंक अकाउंट खोलने पर ATM Card (जिसे Debit card कहा जाता है) करते हैं जिसका उपयोग करके न केवल आप ATM से पैसे निकाल सकते हैं बल्कि online payment या card swipe करके भी payment कर सकते हैं।

Leave a Comment